शादी वो बंधन है, जो दो आत्माओ को एक साथ जीने के लिए बंधन में बांधता है। इस संसार में हर किसीको शादी करनी पड़ती है। क्योकि शादी नहीं करोगे, तो लोगोके ताने सुनने पड़ेंगे। लोग कहेंगे इसकी इतनी उम्र हो चुकी है, पर अभीतक इसने शादी नहीं की। और हमें कही पर भी सुनाते रहते है। तनहा जीवन बोर होक वो शादी करने को सोचता है। शादी करने के बाद उसे एक साथी मिल जाता है। जो हमारा हमसफ़र होता है, हमारा सबसे प्रिय मित्र, सबसे अच्छा शुभचिंतक, और हितैसी होता है। किसीकी शादीशुदा जीवन बहुत ही अच्छा, सुखमय होता है। तो किसी का शादी शुदा जीवन में कई साड़ी समस्याएं भी होती है। जिनका सामना वो कर रहे होते है। तो दोस्तों इस पोस्ट में हम शादी शुदा जीवन को बेहतर कैसे बनाये उस बारे में बतातेयेंगे।
Image credit Pixabay.com


1. एक दूसरे से प्यार करे।

एक तरह से कहा जाए तो शादी शुदा जीवन का नाम मतलब प्यार भरा सम्बन्ध। जो ऐसे शादी शुदा जीवन में प्यार ही नहीं रहेगा, तो वो सम्बन्ध कैसा होगा जरा सोचिये। तो हर व्यक्ति प्यार के तरसता है। इसलिए अपने जीवन साथी को बहुत प्यार करे। उसे आपके प्यार की बहुत जरुरत भी है, और आपके पर प्यार की बहुत अपेक्षाएं रखता है। इसलिए अपने जीवन साथी को निःस्वार्थ प्यार दे।

2. एक दूसरे की इज्जत करे।

अगर हम अपने जीवन साथी से रिस्पेक्ट चाहते है, हमें पहले उसे रिस्पेक्ट देनी होगी। अगर हम ही उसे रिस्पेक्ट नहीं देंगे, तो जरा सोचिये, वो हमें कैसे रिस्पेक्ट देगा। रिस्पेक्ट देने और प्राप्त करने से ये फायदा होता है, की हमारी वैल्यू है, हमारी किसीके आगे वैल्यू है, हमारी कुछ कीमत है, हमारी भी कोई इज्जत करता है। हमारी भी कोई इज्जत है। हमें ऐसा एहसास होगा की, हम भी अच्छे व्यक्ति है।
 


3. पुराने लम्हो को याद करे।

 जीवन में कभी-कभी हमारे जीवन साथी के बिच प्यार में कुछ नाराजगी हो जाए, तो पुराने लम्हों को याद करें। कि किस तरह से हम पहली बार मिले थे। और किस तरह हम दोनों ने एक दूसरे को देखा था। और किस तरह हम लोगों ने पहली बार बात की थी। वह दिन मेरे लिए कितना खास था। जो रात-दिन में उसी के बारे में सोचा करता था। तो इस तरह के प्यार भरे लम्हों को हमें याद करना चाहिए।

4. एक दूसरे पर भरोसा करे।

भरोसा यानी विश्वास। बिना विश्वास कभी सच्चा प्यार नहीं होता। विश्वास ही प्यार का एक नाम है। हमें हमारे जीवन साथी के ऊपर पूरा भरोसा करना होगा। जीवन में हमें अपने जीवनसाथी के बीच का विश्वास का स्थान बहुत ही ऊंचा और मजबूत बनाकर रखना होगा।

5. बॉयफ्रेंड गर्लफ्रेंड जैसा व्यवहार करे।

 शादी करने के बाद चाहे उम्र कितनी भी हो जाए, तब भी हमें गर्लफ्रेंड-बॉयफ्रेंड जैसा ही व्यवहार करना चाहिए। क्योंकि ऐसे व्यवहार में प्यार बहुत होता है। बॉयफ्रेंड गर्लफ्रेंड जैसा व्यवहार करने से प्यार में रोमांस और भी बढ़ जाता है।


6. एक दूसरे के लिए सबसे बेहतर बने।

शादी के पहले हर व्यक्ति अपने लिए बेहतर से बेहतर जीवन साथी ढूंढना चाहता है। पर हमें उस व्यक्ति से प्यार होता है, जिसे हमारा दिल चाहता है। चाहे फिर वह देखने में कैसा भी क्यों ना हो, काला हो या गोरा हो इससे कोई फर्क नहीं पड़ता। हमारा जीवन साथी हम से प्यार करता है हमारी केयर करता है, वही हमारे लिए सब कुछ है। हमें अपनी तरफ से हमारे जीवन साथी के लिए बेहतर से बेहतर अपने आप को बनाते रहना चाहिए। ताकि हमारा जीवन साथी हमसे बहुत ही खुश हो जाएं, और होता रहे। इसलिए हमें अपने जीवन साथी के लिए बेहतर से बेहतर होते रहना चाहिए।

7. एक दूसरे की पसंद का ख़याल रखे।

हर व्यक्ति को अपने लिए कुछ चीजों की जरूरत होती है। तो हमें अपने जीवन साथी के लिए क्या जरूरत है और उसे क्या पसंद है और क्या पसंद नहीं है, उस बात का हमें पूरा ख्याल रखना होगा। अगर हम कपड़े की बात करें तो हमें अपने जीवन साथी के लिए ऐसे कपड़े उसे गिफ्ट देना चाहिए जो उस पर बहुत दिन शूट करे। उसपर बहुत उस पर बहुत ही अच्छा लगे ऐसे कपड़े, जूते और-और भी बहुत सारी चीजें हमेशा गिफ्ट देते रहना चाहिए। और उसे क्या पसंद है क्या नहीं पसंद है उस बात का पूरा ख्याल रखना चाहिए। उसे किस चीज की समस्या है, उसे किस बात में प्रॉब्लम आ रही है, उसे हमें समझना होगा और उससे पूरी तरह मदद करनी होगी, क्योंकि वह उसकी प्रॉब्लम नहीं हमारी जिम्मेदारी भी है। हमारे जीवन साथी दुखी होगा, तो हम भी दुखी हो जाएंगे। घर में क्या उसे पसंद है और क्या पसंद नहीं है, उसका ध्यान जरूर रखें।

8. झगड़ा न करे, बल्कि सहन सीखे और बहुत अच्छी तरह प्रॉब्लम का सलूशन निकाले।

बड़े-बड़े साधु संतों ने भी कहा है, की सहनशक्ति बहुत ही महत्वपूर्ण चीज है। अगर हम सहन करना सीख जाते हैं, तो लड़ाई झगड़ा बिल्कुल भी नहीं होगा। और कोई भी प्रॉब्लम होगा वह आसानी से सॉल्व हो जाएगा। कोई भी प्रॉब्लम को सॉल्व करें। किसी के ऊपर भी दोष ना डालें, कि यह सब तुम्हारी वजह से होता है, ऐसा बिल्कुल भी ना करें। और समझदारी पूर्वक किसी भी समस्या को दूर करें और सबके साथ अच्छा रिलेशन रखे।


9. सुख-दुःख में एक दूसरे को साथ दे।

सुख-दुख सबके जीवन में आता है। संसार में ऐसा कोई व्यक्ति नहीं है, जिसके जीवन में दुख नहीं है। दुख सबके जीवन में होता है। और बात करें शादीशुदा जीवन में तो दुख के समय में अपने जीवन साथी को कभी भी अकेला ना छोड़े। उसे हर दुख में उसका साथ दें और प्रॉब्लम में उसका साथ दें। चाहे वह बीमार हो या बीमार ना हो तब भी उसका साथ दें उसकी केयर करे। उसका ध्यान रखे। क्योंकि सुख-दुख में साथ देना हमारा कर्तव्य है, और धर्म भी है। अगर हम दुख में साथ नहीं देंगे, तो हम स्वार्थी कहलाएंगे। और स्वार्थी व्यक्ति किसी को भी पसंद नहीं होते है। स्वार्थी व्यक्ति को कोई प्यार भी नहीं करता है। इसलिए हमें हर हाल में अपने जीवन साथी का ध्यान रखना होगा। उसके दुख में पूरा सहभागी होना होगा। उसकी पूरी केयर करनी होगी।

10. समय निकालकर कही घूमने को जाए।

आज की भाग दौड़ भरी जिंदगी में सबके पास समय की कमी होती है। फिर भी हमें अपने जीवन साथी के लिए कुछ समय तो निकालना ही होगा। और समय निकालने के बाद हमें उससे के साथ कहीं पर घूमने के लिए जाना चाहिए। और अपनी जिंदगी को एंजॉय करना चाहिए। साथ मिलकर जीना चाहिए। प्यार से जीना चाहिए।

तो दोस्तों इन तरीको को अपनाकर हम अपने शादीशुदा जीवन को बेहतर बना सकते है।