हेलो दोस्तों इस पोस्ट में आप लोगों को मेरा एडसेंस अकाउंट कैसे अप्प्रूव हुआ। उसके बारेमे बताऊंगा। यहाँ पे में जो भी बताऊंगा वो मेरा खुदका एक्सपेरिएंस बताऊंगा। एडसेंस अप्प्रूव कराने के लिए, ब्लॉग में कितने पोस्ट थे। मैंने कौनसी थीम यूज़ किया था। कितनी मेरे ब्लॉग में ट्रैफिक थी, वो सब में इस पोस्ट में बताऊंगा।

एडसेंस अप्प्रूव करने के लिए ब्लॉग में कितने पोस्ट होने चाहिए।

दोस्तों रियल में कितने पोस्ट चाहिए ये में सटीक बात तो नहीं बता सकता हु। पर मेरा जब एडसेंस अप्प्रूव हुआ था। तब मेरे ब्लॉग पर सिर्फ 42 पोस्ट्स थी। कुछ ब्लॉगर और यूटूबर का कहना है, अगर हम आर्टिकल लम्बा लिखते है, तो हम कम पोस्ट में भी एडसेंस का अप्प्रूवल प्राप्त कर सकते है। अगर में मेरी बात करू तो मेरे ब्लॉग में मैंने 200 से 1000 वर्ड की एक पोस्ट लिखी है। कुछ पोस्ट्स बहुत ही कम वर्ड की है। तो कुछ पोस्ट्स 1000 तक या उसके बिच तक है। अगर आप मेरी माने तो आप लोगो को सभी पोस्ट्स के वर्ड मिलकर दश हजार वर्ड से ज्यादा करने के बाद एडसेंस के लिए अप्प्रूव करने के लिए रेडी करना चाहिए। अगर आप एक पोस्ट हजार वर्ड की लिखते हो, तो आपको सायद दश पोस्ट्स भी काफी है, एडसेंस अप्प्रूव कराने के लिए। अगर आप 500 वर्ड की पोस्ट्स लिखते हो, तो सायद आपको 20 पोस्ट्स लिखने होंगे। अगर आप 200 वर्ड की पोस्ट्स लिखते हो। तो मेरे ख़याल से आपको 50 पोस्ट्स लिखने के बाद ही एडसेंस के लिए अप्लाई करना चाहिए। येतो मेरा अंदाजा है। पर आप अपने हिसाब से काम कीजिये। सायद मेरी बात गलत भी हो सकती है।

एडसेंस अप्प्रूव कराने के लिए थीम कौनसी यूज़ करे।

दोस्तों हम ऐसा फिक्स नहीं कह सकते है, की एडसेंस अप्रूव कराने के लिए परफेक्ट थीम कौनसी है। प् ये बात जरूर है, एडसेंस अप्प्रूव कराने के लिए सायद थम भी अच्छी होनी चाहिए। मैंने जब मेरा एडसेंस अप्रूव कराया था। तब मैंने TechTime free version थीम यूज़ की थी। जो की मैंने वो थीम gooyaabitemplates.com से डाउनलोड करके यूज़ की थी। वो भी फ्री वर्शन थी। और फुटर में उन थीम का क्रेडिट भी था। तब भी मेरा एडसेंस अप्प्रूव हुआ था।

Pages कितने होने चाहिए, एडसेंस अप्रूवल के लिए।

दोस्तों सायद एडसेंस अप्प्रूव करने के लिए हमें कुछ जरुरी पेज बनाके ऐड करने चाहिए। जैसे की About me, Contact me और Privacy policy जैसे पेज ऐड करने चाहिए। मेरा जब एडसेंस अप्प्रूव हुआ था तब इतने तीन ही पेजेज थे।

एडसेंस अप्प्रूव करने के लिए ब्लॉग में कितना ट्राफिक आना जरुरी है।

जब मेरा ब्लॉग एडसेंस के लिए अप्प्रूव हुआ था। तब मेरे ब्लॉग में बहुत ही कम पेजेज व्यूज हुआ करते थे। सायद मेरे ख़याल से एडसेंस अप्रूवल के लिए ट्राफिक इतना इम्पोर्टेन्ट नहीं है। जब मेरा एडसेंस अप्प्रूव हुआ था तब मेरे ब्लॉग में एक दिन में सिर्फ 5 विजिटर विजिट किया करते थे। और सिर्फ 10, 20 पेजेज ही व्यूज हुआ करते थे। फिरभी मेरा एडसेंस अप्प्रूव हुआ था। इसलिए में ये कह सकता हु की, एडसेंस अप्रूवल के लये ट्रैफिक से ज्यादा कुछ लेना-देना नहीं है।

एडसेंस अप्रूवल के लिए सायद ये भी जरुरी है।

दोस्तों जब मैंने एडसेंस अप्प्रूव किया था, उस वक्त मेरे ब्लॉगर ब्लॉग पे मैंने Custom robots.txt सेट किया और Sitemap ऐड किया था। और Enable custom robots header tags किया था। और मैंने अपने ब्लॉग को Google Search Console में सबमिट किया था। ये भी चीजे बहुत जरुरी है।
दोस्तों इतना सब कर लेने के बाद मैंने एडसेंस के लिए अप्लाई किया था। और मेरा एडसेंस अप्प्रूव हो गया था। दोस्तों आप अपने हिसाब से ब्लॉग को तैयार करे फिर एडसेंस के लिए अप्लाई करे। एडसेंस अप्प्रूव जरूर होगा। अगर एडसेंस अप्प्रूव नहीं होगा तो भी कोई बात नहीं। एडसेंस हमें ईमेल में उसका कारण भी बताएगा। इसलिए ज्यादा टेंसन लेने वाली बात नहीं है। मैंने भी दो बार अप्लाई किया था पर अप्प्रूव नहीं हुआ था। तीसरी बार अपने ब्लॉग को अच्छे तैयार किया और फिर अप्लाई किया तब मेरे ब्लॉग पे एडसेंस अप्प्रूव हो गया था। इस तरह दोस्तों कभी हार नहीं माने कोशिश करते रहे। एडसेंस अप्रूव जरूर होगा।